Wednesday, December 15, 2010

http://thinkingofnarad.blogspot.com/2010/12/blog-post.html
a new poem in Narad Network`s Blog NARAD VANI

रहस्य
इन राहों में, चलते चलते,
अचानक,
दूर कहीं से कोई आवाज आई,
सुनो! प्रिय सुनो!
फिर एक अट्टहास 
मैं चकित हो, थोड़ा घबराया,
सूनसान सडक, वीरान राहें,
और पूस की ये रात, 
भयावह समां
ये कौन हैं ?, इस वक्त यहां,
किसने हमें पुकारा,
चांद भी आज उगेगा नही,
राह है अभी काफी लंबी,
केवल इन तारों का है साथ,
मगर इस समां में कौन है ?
इस राह का मेरा ये हमराह
हिम्मत करके मैने पूछ ही लिया, 
कौन, कौन हो तुम, कौन, अरे तुम हो कौन, 
कुछ देर के लिए छा गया मौन,
अब है मेरे साथ,
केवल ये समां,
विरान, सूनसान, शीतकाल
और केवल अंधकार,
कुछ देर बाद
सब कुछ
सामान्य,
तभी फिर से
सुनाई दी
वही आवाज,
वही अट्टहास......
फिर उसने दिया मेरे सवालो का 
जवाब....
मै..... मैं हंु तुम्हारा 
जमीर...
तुम्हारी हर राह में,
हर मंजिल में 
तुम्हारा हमसफर, हमराही....
मैंने कहा...
तुम कुछ बताओ
कि इन राहों 
पर चलते रहे
इसी तरह तो 
क्या मुकां होगा
क्या अंजाम होगा 
मेरे मुल्क का 

जबाब आया 
मैं बसा हूं हर एक के सीने में,
इसलिए मैं बताता हूं सबका हाल
आजकल बहुत बदलाव आ गया हैं।
दिलों में फैल गया है अलगाव
विकसित हो रहा है हिंसा का बाजार...

अब सुनो मेरी बात,
ध्यान से सुनो मुझसे ना डरो
मेरी बात समझो,
इस हिंसा के बाजार का नाश
हमें करना होगा,

इससे पहले हमें 
कुछ काम नया करना होगा,
दिलों में बसे अलगाव को मिटाना होगा।
सभी के दिल में प्यार को बसाना होगा।



"नारद"
http://thinkingofnarad.blogspot.com/2010/12/1000.html

New Poem in NARAD NETWORK`s BLOG NARAD VANI


ये हमारे देष में आजकल क्या हो रहा हैं।
लग रहा हैं कि भ्रष्टाचार का कोमनवेल्थ हो रहा हैं।
इसमें कोमनमैन की सारी वैल्थ चली गई,
और इन खिलाडियों की हैल्थ बन गई।
ऐसे में हे मर्यादा पुरूषोत्तम राम,
क्यो कर दिया तुमने ये काम।
ना जाने तुम्हारे दिमाग में ये क्या आया,
सेवकों को भेजकर हनुमानजी कोे बुलवाया।
फिर उनसे एक गुप्त स्थान पर मंत्रणा की,
जो कि आपके एक पुराने विष्वासपात्र दूत का घर था।
क्योंकि आपको भी शायद फोन टेपिंग और जासूसी का डर था।
फिर फैसला ले ही लिया गया।
और गृह मंत्रालय को सूचित कर दिया गया।
एक राजनैतिक यात्रा का कार्यक्रम बनाया गया।
और पुष्पक विमान में सरकारी खर्चे से फुल टैंक पेट्रोल भरवाया गया।
इस बीच श्रीराम चंद्र ने पहना अपना फोर्मल सूट,
पहने जूते और पैक कर लिया बैग मोटा,
दूसरी ओर हनुमानजी ने भी कसी लंगोट
और उठा लिया अपना सोटा।
अब निकले वे करने भारत की सैर,
देखने अपने राज्य को,,
जहां कभी उन्होने जन्म लिया था और राज किया था।

सबसे पहले वे जा रहे थे जिस नगर
उसके रास्ते में वे बोले याद हैं हनुमान
कृष्ण के मित्र पांडवों ने यहां खंडप्रस्थ से इंद्रप्रस्थ बसाया था।
इसे बनाने के लिए  विष्वकर्मा को बुलवाया था
और अद्भुत स्थापत्य कला का रूप दिखलाया था।
मगर आज ये  यहां के क्या हाल हैं।
कहीं गंदगी तो कंही ये लोहे व सीमंेट का जाल हैं।
और ये गोल सा कौनसा सदन हैं।
क्या कोई दंगल हैं
यहां ये कैसा हाहाकार है,
क्या फिर से किसी असुर का अत्याचार हैं।
हनुमान जी बोले प्रभु ये नगर बन गया है अब दिल्ली।
ये हैं इस देष की राजधानी
और इस भवन में बैठी हैं एक फौज जो हो गई हैं अपनों से बेगानी।
प्रभु अपने जमाने के दरबारी और आज के भरोसे के व्यापारी
यहां इनका नाम हैं नेता, कुछ इनमें हैं मंत्री, और कुछ अधिकारी
पर अधिकांष ही तो हैं व्यापारी
कुछ अपने काम के कुछ अपने नाम के,
कुछ जमीन के, तो कुछ जमीर के।
इन्में से कुछ तो ऐसे हैं
सबसे बडे जिनके लिए पैसे हैं।
अरे युद्ध विधवाओं का आषियाना छीन लिया।
कुछ ने गौवंष का निवाला छीन लिया।
गोवंष के लिए रखी भूमि पर भी तो इनका कब्जा है।
तो किसी ने क्रिकेट से कमा दिये करोड़ो,
किसी ने खरीदी में किया घोटाला,
ताबूत,मषीने, हथियार, निर्माण सबमें अपना कमीषन काट डाला।

इधर तो इन लोगों में कडी टक्कर हैं।
आपस में आगे जाने की होड हैं
लगता हैं 1000 मीटर की बाधा दौड हैं।
इस दौड में हर कोई जीतता हैं।
कोई स्वर्ण कोई रजत लेके ही छूटता हैं।
क्रिकेट की दुनिया से आए थे मोदी
बैठे हैं अब जाके फिरंगियों की गोदी

राम चंद्र बोले क्या कह रहे हो हनुमान
चलो अब चलते हैं किसी और ग्राम
रास्ते में उनकी नजर एक विषाल विरान
सुन्दर परिसर पर पडी
वे बोले  ये क्या हैं वत्स हनुमान!
हनुमानजी बोले मेरे प्रभु श्रीराम....
ये भी दिल्ली ही हैं और वो, वो तो हैं खेल ग्राम
प्रभु बोले अच्छा तो यही हैं वो खेलग्राम
जिसके बारे मंे तुम बता रहे थें।
इसी के लिए कलमाडी ने डुबा दिया हम देवताओं का नाम
नाम से तो है सुरों का ईष
पर हैं साला पूरा नीच।
हनुमान ये सुनकर बोले
हे प्रभु ये आपकी वाणी को क्या हो गया
इनके बारे में सुनकर तो हैं आपके सद्गुणों को भी खतरा
क्योंकि इन दुष्टों ने चूस लिया मानवता का एक एक  कतरा
तो रामचंद्र जी बोले सही हैं हनुमान
जाने से पूर्व एकबार मां गंगा में नहाना होगा
फिर अन्य लोगों की भारत यात्रा पर प्रतिबंध लगाना होगा।

" नारद" 28.11.10

Sunday, September 26, 2010

एक कदम The One Step Foundation

संस्था के उद्देश्य:- इस संस्था के उद्देश्य निम्नलिखित हैं।

1. संविधान द्वारा प्रदत्त अधिकारों को आम आदमी तक पंहुचाना। इस हेतु आम आदमी को जागरूक करना। ग्राम सभाएं, नुक्कड नाटक, एवं समय समय पर रैली व कार्यशालाओं द्वारा विभिन्न अधिकारों के बारे में समझ बनाना।
2. आम आदमी को सरकारी, गैर सरकारी योजनाओं की जानकारी देना, उन्हें जागरूक करना, एवं इस प्रकार की योजनाओं का लाभ दिलवाने के लिए मध्यस्थता दिलवाना।
3. शोषण, भ्रष्टाचार, हिंसा, नशे से मुक्त आदर्श समाज की स्थापना का प्रयास। जनसंख्या वृद्धि को रोकने के लिए लोगों में जनजागृति लाना, प्रशिक्षित करना।
4. युवाओं और महिलाओं को सुदृढ़ बनाने के उद्देश्य से शिक्षा तक उनकी पंहुच बनाना ताकि उन्हें आर्थिक, सामाजिक रूप से सुदृढता मिलें।
5. समग्र ग्राम विकास करवाने में सहायता ।
1. ग्रामीण किसानो को उनके उत्पादन का पूरा मुल्य मिले, बिचोलियों की मुनाफाखोरी पर लगाम लग सके, इस उद्देश्य से ग्राम स्तर पर प्रोड्यूसर कंपनियों की स्थापना करना, उत्पाद निर्माण, परिष्करण, एवं विपणन हेतु आधुनिक तकनीकी के उपयोग का प्रशिक्षण देना। इस उत्पाद को आम जनता को भी सस्ते दर पर उपलब्ध करवाया जा सकेगा।
2. बिंदु क्र. 1 में दर्शायी गई प्रोडयूसर कंपनियों के वित्तीय लेनदेनों के लिए ग्राम स्तरीय सहकारी सोसाईटीयों का गठन करना।
3. ग्रामीण नागरिकांेे के लिए स्वास्थ्य के लिए समय समय पर आयुर्वेद व आधुनिक चिकित्सा पद्धतियों के विशेषज्ञों के साथ मिलकर शिविरांे का आयोजन। ग्रामीणों के पशुओं की भी समुचित चिकित्सा व्यवस्था प्रदान करवाना।

6. ऐसे युवा जो किसी भी क्षेत्र में महारथ या रूचि रखते हैं परन्तु किन्ही कारणों से अपनी रूचि के क्षेत्र में नही जा पा रहे हैं उन्हें मौका देना (यथा अध्ययन, कला, संगीत, संस्कृति, नृत्य, लेखन, विज्ञान आदि)।
7. शिक्षा से वंचित रहे युवाओं के लिए योजना बनाकर उन्हें मुख्य धारा में लाने में सहयोग देना।(6 से 14 वर्ष की आयु वालों को आवश्यक शिक्षा हेतु विधालयों में भेजना एवं जो बडी उम्र के कारण नही जा सक रहे हैं उनके लिए अनौपचारिक शिक्षा की व्यवस्था। यथा रात्रि पाठशाला, साप्ताहिक पाठशाला, 3 या 4 माही आवासीय शिविर)।
8. उपरोक्त कार्यक्रमांे में जो युवा साथी तैयार होंगंे उनमें नेतृत्व क्षमता का विकास करना ताकि वे संस्था के उद्देश्यांे में कंधे से कंधा मिलाकर भाग लेवें और सहयोग देवें।
For More Details or Membership Process COntect me.
9462274522 (8AM- 8PM)
9829908393 (other Time)
आजाद हिंद ऐसोसिएशन

Thursday, September 16, 2010

राशन की दुकानों की सूचना

lsokesa]
tulwpuk vf/kdkjh
jln ,oa vkiwfrZ foHkkx] jktLFkku
fo’k; % jktLFkku jkT; esa vkids foHkkx }kjk fu;af=r jk”ku dh nqdkuksa] nqdkuksa dh fcØh] muls ljdkj dks izkIr vk;] vkids }kjk voS/k eky dh tCrh vkfn ds laca/k esa lwpuk ckcrA
lanHkZ % lwpuk dk vf/kdkj 2005
layXu % Hkkjrh; iksLVy vkMZj :- 10 ek=A

Jheku th eq>s vkils fuEu tkudkfj;ka ftysokj o’kZokj pkfg, fd fiNys 10 o’kkZsa esa 31 ekpZ dks lekIr foRrh; o’kZ esa &
1-     jk'ku dh nqdkuksa dh la[;k ftysokj fdruh Fkh A
2-     jk”ku dh nqdkuksa dh dqy fcØh fdruh jghA fofHkUu oLrqokj
3-     mu nqdkukas ls fdruh vk; vkids foHkkx dks gqbZA
4-     fdruh ek=k esa voS/k eky dh tCrh gqbZA
5-     bl tCr eky esa ls fdruk eky iqfyl Fkkuksa esa iMk gSaA
6-     bl tCr eky esa ls fdruk eky vkids foHkkx ds ikl iMk gSaA
7-     bl tCr eky dk fuLrkj.k fdl izdkj fd;k x;k gSaA
8-     tCr gqbZ eky dh jkf”k fdruh FkhA
9-     bl tCr eky esa ls fdruh jkf”k dk  eky iqfyl Fkkuksa esa iMk gSaA
10-   bl tCr eky esa ls fdruh jkf”k dk eky vkids foHkkx ds ikl iMk gSaA
11-   bl tCr eky esa ls fdruh jkf”k dk  ekyfuyke fd;k x;k g
12-   bl tCr okguksa esa ls fdruh jkf”k ds okgu iqfyl Fkkuksa esa iMk gSaA
13-   bl tCr eky esa ls fdruh jkf”k ds okgu vkcdkjh Fkkuksa esa iMk gSaA
14-   bl tCr eky esa ls fdruh jkf”k ds okgu fuyke fd;k x;k gSaA
¼lHkh lqpuk,sa dsoy lacaf/kr foÙkh; o’kZ ds nkSjku dh gh pkfg, & ¼1 vizsy ls 31 ekpZ rd½½

Ø-l-
ftyk
2001
02
03
04
05
06
07
08
09
10
;ksx















blds vfrfjDr ;s lHkh lqpuk,a 31 ekpZ 2010 ls ckn izfrekg dh vafre rkjh[k rd dh nsosaA

Ø-l-
ftyk
30 vizsy 10
31 ebZ 10
30 twu 10
31 tqykbZ 10
31 vxLr 10
;ksx










tCr eky o okguksa dk  dqy LVkWd ] dqy fuykeh dh jkf”k ¼31 vxLr 2010rd dk nsosaA½

fiNys 10 o’kkZsa esa ¼31 ekpZ dks [kRe gq, foRrh; o’kZ esa½
15-   ftysokj fdrus Nkis ekjs x;sA
16-   ftysokj fdrus eqdnesa ntZ fd;s x;sA
17-   vkids foHkkx dk jktLo olwyh y{; fdruk FkkA
18-   fdruh jktLo olwyh dh xbZA
;s lwpuk,a dsoy orZeku dh 31 vxLr 2010 dh nsoasaA
19-   ftysokj fdrus in Lohsd`r jgsaA ¼ inokj lwpuk nsosa½
20-   ftysokj fdrus in fjDr gSaA ¼ inokj lwpuk nsosa½
21-   ftysokj fdrus okguksa dh vko”;drk gSaA
22-   ftysokj fdrus okguksa dh deh gSaA
23-   ftysokj miyC/k okguksa dh la[;k] okgu dk izdkj] ekWMy] LokfeRo foHkkx dk gSa ;k yht ijA vyx vyx lwph]
24-   ftysokj yht ij miyC/k okguks ds vuqj{k.k ]yht ij o bZ/ku ij O;;A
25-   ftysokj [kjhn x,s okguksa ds vuqj{k.k ij o bZ/ku ij O;; dh jkf”kA
26-   vkids foHkkx dks orZeku esa fdrus lalk/kuksa dh vko”;drk gSA
27-   fdrus lalk/ku miyC/k gSaA
28-   fdrus deZpkfj;ksa ij Hkz’Vkpkj ds vkjksi @eqdnesa yxsaA mudk D;k ifj.kke gqvk uke okbZt ftyk okbZt lwphA


Hkonh;

                                                           r:.k tks”kh ukjn

esjk irk %&
r:.k tks”kh ukjn
    xzke  iFkesM+k] iksLV gkMsrj]
    rg lkapksj ftyk tkyksj
    eksckbZy u- 9462274522

सूचना का अधिकार चिकित्‍सा विभाग

lsokesa]
tulwpuk vf/kdkjh
fpfdRlk foHkkx] jktLFkku
fo’k; % jktLFkku jkT; esa vkids foHkkx }kjk fu;af=r nokbZ;ksa dh nqdkuksa] nqdkuksa dh fcØh] muls ljdkj dks izkIr vk;] vkids }kjk voS/k eky dh tCrh vkfn ds laca/k esa lwpuk ckcrA
lanHkZ % lwpuk dk vf/kdkj 2005
layXu % Hkkjrh; iksLVy vkMZj :- 10 ek=A

Jheku th eq>s vkils fuEu tkudkfj;ka ftysokj o’kZokj pkfg, fd fiNys 10 o’kkZsa esa 31 ekpZ dks lekIr foRrh; o’kZ esa &
1-     nokbZ dh nqdkuksa dh la[;k ftysokj fdruh Fkh A
2-     nokbZ dh nqdkuksa dh dqy fcØh fdruh jghA
3-     mu nqdkukas ls fdruh vk; vkids foHkkx dks gqbZA
4-     fdruh ek=k esa voS/k nokbZ;ksa dh tCrh gqbZA
5-     bl tCr eky esa ls fdruk eky iqfyl Fkkuksa esa iMk gSaA
6-     bl tCr eky esa ls fdruk eky vkids foHkkx ds ikl iMk gSaA
7-     bl tCr eky esa ls fdruk eky fuyke fd;k x;k gSaA
8-     tCr gqbZ eky dh jkf”k fdruh FkhA
9-     bl tCr eky esa ls fdruh jkf”k dk  eky iqfyl Fkkuksa esa iMk gSaA
10-   bl tCr eky esa ls fdruh jkf”k dk eky vkcdkjh Fkkuksa esa iMk gSaA
11-   bl tCr eky esa ls fdruh jkf”k dk  ekyfuyke fd;k x;k g
12-   bl tCr okguksa esa ls fdruh jkf”k ds okgu iqfyl Fkkuksa esa iMk gSaA
13-   bl tCr eky esa ls fdruh jkf”k ds okgu vkcdkjh Fkkuksa esa iMk gSaA
14-   bl tCr eky esa ls fdruh jkf”k ds okgu fuyke fd;k x;k gSaA
¼lHkh lqpuk,sa dsoy lacaf/kr foÙkh; o’kZ ds nkSjku dh gh pkfg, & ¼1 vizsy ls 31 ekpZ rd½½

Ø-l-
ftyk
2001
02
03
04
05
06
07
08
09
10
;ksx















blds vfrfjDr ;s lHkh lqpuk,a 31 ekpZ 2010 ls ckn izfrekg dh vafre rkjh[k rd dh nsosaA

Ø-l-
ftyk
30 vizsy 10
31 ebZ 10
30 twu 10
31 tqykbZ 10
31 vxLr 10
;ksx










tCr eky o okguksa dk  dqy LVkWd ] dqy fuykeh dh jkf”k ¼31 vxLr 2010rd dk nsosaA½

fiNys 10 o’kkZsa esa ¼31 ekpZ dks [kRe gq, foRrh; o’kZ esa½
15-   ftysokj fdrus Nkis ekjs x;sA
16-   ftysokj fdrus eqdnesa ntZ fd;s x;sA
17-   vkids foHkkx dk jktLo olwyh y{; fdruk FkkA
18-   fdruh jktLo olwyh dh xbZA
;s lwpuk,a dsoy orZeku dh 31 vxLr 2010 dh nsoasaA
19-   ftysokj fdrus in Lohsd`r jgsaA ¼ inokj lwpuk nsosa½
20-   ftysokj fdrus in fjDr gSaA ¼ inokj lwpuk nsosa½
21-   ftysokj fdrus okguksa dh vko”;drk gSaA
22-   ftysokj fdrus okguksa dh deh gSaA
23-   ftysokj miyC/k okguksa dh la[;k] okgu dk izdkj] ekWMy] LokfeRo foHkkx dk gSa ;k yht ijA vyx vyx lwph]
24-   ftysokj yht ij miyC/k okguks ds vuqj{k.k ]yht ij o bZ/ku ij O;;A
25-   ftysokj [kjhn x,s okguksa ds vuqj{k.k ij o bZ/ku ij O;; dh jkf”kA
26-   vkids foHkkx dks orZeku esa fdrus lalk/kuksa dh vko”;drk gSA
27-   fdrus lalk/ku miyC/k gSaA
28-   fdrus deZpkfj;ksa ij Hkz’Vkpkj ds vkjksi @eqdnesa yxsaA mudk D;k ifj.kke gqvk uke okbZt ftyk okbZt lwphA

Hkonh;

                                                        r:.k tks”kh ukjn

esjk irk %&
r:.k tks”kh ukjn
    xzke  iFkesM+k] iksLV gkMsrj]
    rg lkapksj ftyk tkyksj
    eksckbZy u- 9462274522

Indian Railway reservation

Word of the Day

Quote of the Day

Article of the Day

This Day in History

Today's Birthday

In the News

*
*
*
*
*
*
contact form faq verification image

Web forms generated by 123ContactForm


Sudoku Puzzles by SudokuPuzz

IPO India Information (BSE / NSE)

Stock Indexes (BSE / NSE)

There was an error in this gadget
 
Blog Maintain and designed By तरूण जोशी "नारद"